दिनांक 17/ 07/2022 को नरेंद्र सिंह के द्वारा जतारा थाना सूचना दी गई कि ग्राम हरपुरा के खेत तरफ नवीन घोष पिता महीप घोष उम्र 28 साल निवासी हरपुरा की किसी अज्ञात व्यक्ति के द्वारा गला काट कर हत्या कर दी गई है और आरोपी फरार हो गया है इस सूचना पर थाना जतारा में अपराध क्रमांक 186/22 धारा 302 ता.हि का कायम किया गया। घटना से पुलिस अधीक्षक टीकमगढ़ श्री प्रशांत खरे को अवगत कराया व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री सीताराम ससत्या तथा एसडीओपी जतारा श्री दिलीप पांडे को घटना की जानकारी देकर निर्देशन प्राप्त किए । एसडीओपी जतारा तथा थाना जतारा से निरीक्षक त्रिवेंद्र त्रिवेदी अपने बल को साथ लेकर घटनास्थल पर पहुंचे
फिंगरप्रिंट टीम एवं डॉग स्कॉट टीम घटनास्थल पर पहुंची तथा घटनास्थल का निरीक्षण किया गया क्योंकि घटना दिन के समय घटित हुई थी एवं किसी अज्ञात व्यक्ति के द्वारा धारदार हथियार से गला काटकर नवीन घोष को मार दिया गया था, इसीलिए मौके पर परिजनो एवं ग्रामीणों से जानकारी ली गई। उक्त अंधे हत्याकांड में वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में विवेचना प्रारंभ की गई ,घटना की हर तरफ से बारीकी से जांच कर तथा मृतक के माता-पिता एवं रिश्तेदारों से पूछताछ के बाद कई बातें निकल कर सामने आई, परिस्थिति जन्य साक्ष्य एवं विवेचना के द्वारान मिले साक्ष्यों से कड़ी जोड़ते हुए जानकारी मिली कि मृतक नवीन घोष की शादी दिनांक 03/07/22 को अंजलि घोष निवासी गुरसराय जिला झांसी उत्तर प्रदेश के साथ हुई थी। जो शादी के बाद से ही दोनों का रिश्ता ठीक नहीं चल रहा था अंजलि घोष से पूछताछ की गई तब उसने बताया कि नवीन घोष से उसकी शादी उसकी मर्जी के खिलाफ हुई थी वह अक्षय उर्फ राजा घोष से प्यार करती थी इसी कारण से अंजलि और उसके प्रेमी
अक्षय उर्फ राजा घोष ने मिलकर नवीन घोष को जान से मारने की योजना बनाई।
दिनांक 17/07/2022 को अंजलि ने अपने बॉयफ्रेंड राजा घोष को ग्राम हरपुरा बुलवाया तथा अपने पति नवीन घोष को जामुन लाने के लिए खेत तरफ भिजवाया, वहां अक्षय उर्फ राजा घोष अपने दो अन्य साथियों के साथ छुपा हुआ था नवीन घोष के वहां पहुंचते ही इन लोगों ने गला काटकर उसकी हत्या कर दी और भाग गए । अंजलि घोष द्वारा अपने प्रेमी अक्षय उर्फ राजा घोष व अन्य दो साथियों के साथ मिलकर नवीन घोष की हत्या करवा दी । आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया ।
उक्त कार्यवाही में थाना जतारा से थाना प्रभारी निरीक्षक त्रिवेंद्र त्रिवेदी ,उपनिरीक्षक अजय प्रताप सिंह ,उप निरीक्षक रवि सिंह कुशवाह, सउनि करण सिंह यादव प्रधान आरक्षक मनमोहन, बाल किशन ,पुष्पेंद्र आरक्षक वीरेंद्र, मनोज भूपेश ,भूपेंद्र ,जितेंद्र महिला आरक्षक रोशनी ,प्रांजल तथा साइबर सेल से उपनिरीक्षक मयंक नगायच, प्रधान आरक्षक रहमान खान की सराहनीय भूमिका रही।